Featured Post

Sunday, December 2, 2012



Happy Birthday Papa...

मेरे हौसलों को हवा देने वाले ...
मेरी उड़ान में तू उड़ता है ...
करूँ कैसे तेरा मैं शुक्र अदा ..

मुझमें हक़ जैसा तू बसता है !

लक़ीरे तेरी , तक़दीरें मेरी ...

हाथ मेरे , जुम्बिशें तेरी ...
क़दम मेरे , चाल तेरी ...
लहू मेरा , रवानगी तेरी !

मायूसी मेरी , हिम्मतें तेरी ..

फ़तेह मेरी , कोशिशें तेरी ...
ज़हन मेरा , सोच तेरी ...
इम्तिहां मेरा , इबादतें तेरी !

जी के खुद में तुझे ...

मैं सोच में पड़ जाती हूँ ..
गया था तू इस जहाँ से ..
या थी वो "रुखसती " मेरी !
See More

No comments: